वायुसेना ने निभाया अहम् रोल : राज्य स्तरीय मॉक एक्सरसाइज सम्पन्न

वायुसेना ने निभाया अहम् रोल : राज्य स्तरीय मॉक एक्सरसाइज सम्पन्न

जयपुर, 7 जुलाई (CHHOTIKASHI)। पड़ौसी राज्य उत्तरप्रदेश के 75 जिलों में से 40 जिलों को बाढ़ के प्रति संवेदनशील व अति संवेदनशील जिलों के रूप में वर्गीकृत किया गया है इसलिए यह अति आवश्यक है कि बाढ़ के प्रतिकूल प्रभावों से निपटने के लिए प्रदेश व जनपद स्तर पर पूर्वाभ्यास एवं क्षमता का निर्माण करने के उद्देश्य से नियमित रूप से कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के तत्वावधान में उत्तरप्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा राज्य स्तरीय मॉक एक्सरसाइज का आयोजन तीन चरणों में तथा गुरुवार को मॉक एक्सरसाइज (फिजिकल कंडक्ट) में सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ।

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सदस्य लेफ्टिनेंट जनरल अता हसनैन और राजेंद्र सिंह द्वारा मॉक एक्सरसाइज के दौरान महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश प्रदान किया गया। लेफ्टिनेंट जनरल रविंद्र प्रताप साही, उपाध्यक्ष, प्राधिकरण द्वारा जमीनी तैयारियों के सम्बन्ध में सभी सम्बन्धित विभागों व जनपदों के अधिकारियों के उत्तरदायित्व का जायजा लिया गया और आपदा की स्थिति में सतर्क रहने की अपेक्षा की गयी। मेजर जनरल सुधीर बहल, सलाहकार, प्राधिकरण द्वारा इस मॉक एक्सरसाइज को कुशलतापूर्वक सम्पन्न कराया गया। प्राधिकरण के वरिष्ठ सलाहकार ब्रिगेडियर पी.के.सिंह ने समस्त सम्बन्धित विभागों एवं जिलों के मध्य समन्वय स्थापित करने की अहम् भूमिका निभायी।

मॉक एक्सरसाइज-2022 में एयरफोर्स ने आपदा की स्थिति मेें अपनी भूमिका को अत्यधिक दक्षता से प्रदर्शित किया। इस पूर्वाभ्यास मेें राष्ट्रीय आपदा मोचक बल (एनडीआरएफ) राज्य आपदा मोचक बल (एसडीआरएफ) पीएसी, एसएसबी ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और जनता के विश्वास को और बल प्रदान किया। आपदा मित्र परियोजना के अंतर्गत प्रदेश के 10 जनपदों से प्रशिक्षण लेने वाले लगभग 1550 आपदा मित्रों ने इस मॉक एक्सरसाइज में उत्साहपूर्वक महत्वपूर्ण भूमिका निभायी।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow