किसान खेती की नई-नई तकनीकें अपना रहा, खेत, फसलों से लहलहा रहे- प्रो. सिंह

किसान खेती की नई-नई तकनीकें अपना रहा, खेत, फसलों से लहलहा रहे- प्रो. सिंह

बीकानेर, 15 अगस्त। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय में 76वां स्वतंत्रता दिवस समारोह, हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कुलपति प्रो.आर.पी. सिंह ने झंडारोहण व राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की और मार्चपास्ट की सलामी ली।  कुलपति प्रो सिंह ने विश्वविद्यालय के शिक्षा, अनुसंधान एवं प्रसार गतिविधियों व उपलब्धियों के बारे में बताया और कहा की आज, हमारा किसान परम्परागत तरीकों के साथ खेती की नई-नई तकनीकें अपना रहा है जिससे हमारे खेत, फसलों से लहलहा रहे हैं। जहां एक ओर कृषि वैज्ञानिक नए-नए शोध और अपने अनुभवों से किसानों को मार्गदर्शन उपलब्ध करवा रहे हैं वहीं दूसरी ओर किसानों की व्यावहारिक परेशानियों को दूर करने के लिए भी प्रयासरत है।आजादी के बाद से लेकर अब तक, भारतीय कृषि की यात्रा, प्रेरणादायक रही है। कोरोना महामारी, मौसम की अनिश्चितता, मृदा स्वास्थ्य में गिरावट, वायुमंडलीय तापमान में वृद्धि, रसायन व कीटनाशको के दुष्प्रभाव जैसी चुनौतियों के बावजूद, खाद्यान्नों, फलों एवं सब्जियों उत्पादन मे काफी वृद्धि हुई है। कार्यक्रम में सेंट्रल अकेडमी बीकानेर के विद्यार्थियों ने देश भक्ति गीतों पर ग्रुप डांस से उपस्थित दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। कुलपति द्वारा मेरिटोरियस विद्यार्थियों एवं उत्कृष्ट कार्य करने वाले कृषि वैज्ञानिकों, अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस दौरान कुलसचिव कपूरशंकर मान, अधिष्ठाता डॉ आई पी सिंह, निदेशक प्रो. वीर सिंह, डॉ आर के जाखड़, विशेषाधिकारी इंजी. विपिन लढ्ढा सहित डीन, डायरेक्टर्स व अन्य कार्मिक मौजूद रहे। मंच संचालन डॉ मंजु राठौड़ ने किया। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कृषि एवं सामुदायिक विज्ञान महाविद्यालय, कृषि व्यवसाय प्रबंधन संस्थान तथा कृषि विज्ञान केन्द्रों में भी ध्वजारोहण किया गया। आज ही के दिन विश्वविद्यालय के समारोह स्थल पर पौधरोपण भी किया गया। कुलपति प्रो. सिंह ने पहला पौधा लगाकर इसकी शुरुआत की।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow