श्रीमद् देवीभागवत कथा महापुराण में राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी मसा ने वसुधैव कुटुंबकम एवं मेक इन इंडिया पर दिया जोर 

In-Shrimad-Devi-Bhagwat-Katha-Mahapuran-Rashtrasant-Dr-Vasantvijayji-Masaa-emphasized-on-Vasudhaiv-Kutumbakam-and-Make-in-India

श्रीमद् देवीभागवत कथा महापुराण में राष्ट्रसंत डॉ वसंतविजयजी मसा ने वसुधैव कुटुंबकम एवं मेक इन इंडिया पर दिया जोर 

मां की भक्ति आराधना में क्वांटिटी, नहीं क्वालिटी हो : डॉ वसंतविजयजी म.सा. 

कृष्णगिरी। श्रीपार्श्व पद्मावती शक्ति पीठ तीर्थधाम कृष्णगिरी के शक्ति पीठाधीपति, राष्ट्रसंत, सर्वधर्म दिवाकर पूज्य गुरुदेवश्रीजी डॉ वसंतविजयजी महाराज साहेब ने रविवार को यहां श्रीमद् देवीभागवत कथा महापुराण के वाचन के तीसरे दिन कहा कि जगत जननी राजराजेश्वरी देवी मां पद्मावती की पूजा, भक्ति, आराधना में क्वांटिटी नहीं, अपितु क्वालिटी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि देवी मां से अपनी सुख, समृद्धि, आरोग्य की कामना का ध्यान मन लगाएंगे तो स्वत: ही हमारी यह वाणी स्वयं सर्वज्ञ बनकर सिद्ध होगी तथा हमें उस ऐश्वर्य की प्राप्ति होगी जिसकी हम सच्चे हृदय से कामना करेंगे। मां के प्रति समर्पण के भाव प्रकट होना आवश्यक है। रविवार विशेष कथा प्रवचन में मंत्र शिरोमणि संतश्रीजी ने नेत्र दृष्टि तेज करने वाले चमत्कारी चाक्षुसी विद्या मंत्र का भी सभी को लाभ प्रदान किया। संतश्रीजी ने इस दौरान वसुधैव कुटुंबकम एवं मेक इन इंडिया को विस्तार से उल्लेखित करते हुए सनातन धर्मावलंबियों को प्रेरणादायी सीख दी। उन्होंने कहा कि यह समय अच्छा पढ़ लिखकर नौकरी करने का नहीं, बल्कि नौकरियां देने का है। मल्टीनेशनल कंपनियों में भी नौकरियों की इच्छा रखने वाले युवाओं को उन्होंने स्वयं सेठ अथवा मालिक बनने की बात कही। पूज्य गुरुदेव ने कहा कि व्यक्ति को स्वयं की चाहत बनानी चाहिए तभी प्रकृति की तरंगे दैवीय शक्तियों के साथ इस चाहत को सार्थक सिद्ध करेगी। प्रसंगवश उन्होंने कहा, शब्दों का चयन सही होना चाहिए। वे बोले कि श्रद्धालुओं का आत्मोत्थान करने वाले गुरु अथवा संतों का काम किसी के दुख सुनना नहीं बल्कि उन्हें सन्मार्ग पर बढ़ाकर सुखी करना है। देवी भागवत कथा में सप्तलोक के वर्णन की व्याख्या एवं विस्तृत जानकारी देते हुए संत श्रीजी ने यह भी कहा कि व्यक्ति रोना बंद करेगा, तभी उसकी हंसी शुरू होगी। तीर्थ धाम परिसर में श्रावण मास विशेष पहली बार हो रही ऐतिहासिक 29 दिवसीय भक्ति आराधना एवं यज्ञ महोत्सव के तहत देवी कथा पश्चात हवन यज्ञ में आहुतियां दी गई। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण पूज्यश्री डॉ वसंतविजयजी म.सा. के अधिकृत यूट्यूब चैनल थॉट योगा पर लाइव प्रसारित किया गया।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow